शनिवार, 23 मार्च 2019

कांग्रेस अब और नही इस देश में

#कांग्रेस_कार्यकाल_में :-
#समझौता ब्लास्ट होता है , 68 लोग मारे जाते हैं ,कबूलनामे के बावजूद लश्कर के आतंकी को छोड़ा और असीमानंद सहित 4 हिंदुओं को फंसाया जाता है।
#मालेगांव ब्लास्ट होता है ,30 लोग मारे जाते हैं ,सिमी के आतंकियों को छोड़ साध्वी प्रज्ञा/कर्नल पुरोहित को फंसाया जाता है।
#मक्का मस्जिद हैदराबाद में ब्लास्ट होता है,14लोग मारे जाते हैं,असली अपराधी को छोड़,असीमानंद सहित कई हिंदुओं को फंसाया जाता है।
#गोधरा में ट्रेन जलाई जाती है,59 कारसेवक जिन्दा जलाए जाते हैं , इसमें भी असली अपराधियों को छोड़ कांग्रेस बीजेपी का षड्यंत्र बताती है।
#इशरत जंहा /सोहराबुद्दीन नामक आतंकियों का एनकाउंटर होता है , इसे कांग्रेस सरकार की केंद्रीय जांच एजेंसी फेक बताती है और अमित शाह,बंजारा को आरोपी बनाया जाता है।
#मुंबई अटैक होता है , 164 लोग आतंकियों द्वारा मारे जाते हैं और हाफिज सईद का नाम आता है पर दिग्विजय सिंह इस हमले में "आरएसएस की साजिश" बताते हैं।वह तो शुक्र है कि तुकाराम काम्बले जी कसाब को जिंदा पकड़ पाने में सफल होते हैं अन्यथा इसमें भी कांग्रेस सरकार किसी हिन्दू साधू-साध्वी को जेल में सड़ा देती।
#अजमेर में ब्लास्ट होता है , 3 लोग मारे जाते हैं , इसमें भी असीमानंद और आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार को फंसाया जाता है।
इन सभी केसों में हिंदुओं को फंसाया गया और जेल में सड़ाया गया , यातनाएं दी गईं।इन सभी केसों में मोदी के आने के बाद जांच और अदालती कार्यवाही होने के उपरांत सभी हिंदुओं को बाइज्जत बरी किया गया है।यह केस प्रमाण है इस बात का कि किस तरह कांग्रेस सरकार ने हिंदुओं के खिलाफ साजिश की और असली गुनाहगारों को छोड़ा गया।
इस सब के बावजूद भी हिन्दू स्वार्थ और महत्वाकांक्षा के चलते कांग्रेस को वोट करता है और पूछता है कि - "मोदी ने हिंदुओं के लिए आखिर किया ही क्या है" तो सच में लानत है तुम्हारे हिन्दू होने पर । 

Rajeev Agrawal की फेसबुक वॉल से साभार