सोमवार, 1 अप्रैल 2019

स्मार्ट सिटी मिसन क्या है

स्मार्ट सिटी मिशन क्या है ?
स्मार्ट सिटी मिशन, भारत सरकार द्वारा देश भर में 100 नए शहरों को विकसित करने के मिशन के साथ शहरी नवीनीकरण और पुनर्निमाण का कार्यक्रम है, जिसमे शहरों में व्यवस्थित ढंग से बुनियादी सुविधाओं का निर्माण किया जाना है, उन्नत तकनीक के माध्यम से नागरिक अनुकूल बनाना है.
“100 स्मार्ट सिटी मिशन” परियोजना प्रधानमंत्री मोदी द्वारा 25 जून 2016 को लॉन्च की गई थी. विभिन्न चरणों के तहत शहरों में कार्यान्वयन के लिए इस परियोजना में 2 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा के 6000 छोटे बड़े प्रोजेक्ट है.
 उन 6000 प्रोजेक्ट्स में से कुछ यहां लिस्ट किये गए हैं :
 24*7 विद्युत आपूर्ति.
 चयनित इमारतों की छतों पर सोलर प्लांट.
 अपशिष्ट से ऊर्जा परियोजनाएं.
 गंदा पानी साफ़ करने के संयंत्र (सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट).
 पर्याप्त पानी की आपूर्ति.
 इरिएडिएशन स्लज हाइजीनेशन प्रोजेक्ट
 अपशिष्ट जल की रीसाइक्लिंग और वर्षा जल का पुन: उपयोग.
 जल निकायों की बहाली.
 बागवानी के लिए ग्रे वॉटर ग्रिड.
 स्वच्छता : ठोस अपशिष्ट प्रबंधन सहित.
 100% ठोस अपशिष्ट संग्रह.
 सीवर नेटवर्क को सुदृढ़ बनाना और विस्तार करना.
 ड्रेनेज नेटवर्क का विस्तार.
 सभी खुले नाले को ढंकना.
 चयनित इमारतों में बारिश के पानी का संग्रहण करना.
 स्मार्ट मीटरिंग और पुराने मीटर को अपग्रेड करना.
 ऑप्टिक फाइबर केबल बिछाने के लिए अलग पाइपलाइन.
 सार्वजनिक स्थानों पर वाई-फाई.
 एकीकृत और बुद्धिमान यातायात प्रबंधन प्रणाली.
 ऑन-स्ट्रीट पार्किंग, रोड मार्किंग, वेरिएबल संदेश संकेत.
 स्मार्ट सिटी निगरानी प्रणाली.
 जीआईएस आधारित एकीकृत डैशबोर्ड के लिए ऑपरेशन सेंटर.
 आईपी ​​आधारित सीसीटीवी कैमरा और टोल फ्री हेल्पलाइन.
 अलग साइकिल ट्रैक और साइकिल पार्किंग.
 चयनित बाजारों का सौंदर्यीकरण.
 इमरजेंसी वाहनो को एंट्री की अनुमति देने के लिए हाइड्रोलिक बोल्डर
 बाजारों में इंटेलिजेंट सौर एलईडी लाइट, सीसीटीवी, आदि.
 घूमने वाले स्थानों पर मल्टी लेवल पार्किंग.
 100% भूमिगत तार.
 किसी भी तरह का कोई अतिक्रमण नहीं.
 अतिक्रमण हटाने की प्रभावशाली व्यवस्था.
 सार्वजनिक जल बूथ (प्याऊ).
 वैकल्पिक ईंधन के साथ आधुनिक बसें.
 ई-रिक्शा, ई-पाठशाला.
 पैदल यात्री अनुकूल मार्ग विकसित करना.
 चुनिंदा स्थानों पर पैदल यात्री प्लाजा.
 ज़ेबरा क्रॉसिंग, पेलिकन और पफिन क्रॉसिंग्स.
 पैदल यात्रियों के लिए स्वचालित यातायात संकेत.
 डिजिटल विज्ञापन का स्थान.
 जगह जगह पब्लिक टॉयलेट, और डस्टबिन.
 इंटेलिजेंट एलईडी स्ट्रीट लाइटिंग और हाई मास्ट.
 सार्वजनिक स्थानों पर वायु और जल प्रदूषण का रियल टाइम डिजिटल प्रदर्शन.
 प्रमुख स्थानों पर ओपन एयर जिम.
 नदियों के किनारे रिवरफ्रंट का विकास. (गंगा रिवर फ्रंट का विकास)
 फेरी/विक्रेता जोन का निर्माण.
 ग्रीनफील्ड डेवलपमेंट.
 सार्वजनिक स्थानों पर स्ट्रीट आर्ट और अन्य प्रतियोगिताओं का आयोजन.
 चयनित शहर की सड़कों का नवीनीकरण.
 सार्वजनिक पार्क का विकास.
 फुट ओवर ब्रिज का निर्माण.
 जगह जगह इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन.
 मरीजों के लिए आपातकालीन एम्बुलेंस सेवाएं.
 वायु प्रदूषण प्रबंधन.
 नदी की सतह की सफाई.
 वनीकरण, जैव-विविधता.
 घाट और शवदाहगृह का विकास.
 हेरिटेज सिटी संग्रहालय.
 एकीकृत मल्टी मॉडल परिवहन.
 कौशल विकास केंद्र.
 इलेक्ट्रॉनिक सेवा वितरण.
 कृषि नोड्स और मंडी का विकास.
 बहुउद्देश्यीय स्मार्ट कार्ड
 मजबूत आईटी कनेक्टिविटी और डिजिटाइजेशन.
 शहरी ज्ञान केंद्र और स्मार्ट क्लास रूम.
 नगर पालिका विद्यालयों में स्मार्ट लर्निंग.
 इनोवेशन को बढ़ावा देने के लिए लैब्स.
 और बहुत कुछ.....
 परियोजना स्थिति 24 फरवरी 2019 तक :
स्मार्ट सिटी मिशन न्यूनतम 5 वर्ष का कार्यक्रम है और 2022 के बाद परिणाम आने की उम्मीद है. विभिन्न चरणों के तहत शहरों में कार्यान्वयन के लिए 2 लाख करोड़ रुपये से अधिक की लगभग 6000 छोटी-बड़ी परियोजनाएँ निर्माणाधीन/निविदा के तहत हैं.
निर्माण कार्य पूरा हुआ :
682 परियोजनाएं : 12,227 करोड़ रुपए
निर्माणाधीन :
2,226 परियोजनाएं : 71,417 करोड़ रुपए
निविदा के तहत :
2,998 परियोजनाएं : 1,15,027 करोड़ रुपए
#SmartCity #SmartCityMission #SmartCityProject #TrustNaMo #OnlyNaMoCan #ModiMatters #SaafNiyatSahiVikas #NaMoAgain #VoteKar
✍️ Abhijeet Srivastava (अविनाश भाई की पोस्ट का हिंदी अनुवाद)

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें